Sunday, December 16, 2018
Home > Reviews > Bank Chor Review

Bank Chor Review

Bank Chor Review

बैंक चोर रिव्यु : इस फिल्म को प्रमोट किया गया था एक कॉमेडी मूवी के रूप में लेकिन कॉमेडी नाम मात्र की है , यह एक बुरी फर्स्ट हाफ मूवी है लेकिन अच्छी सेकंड हाफ मूवी है।

bank chor review
bank chor review

कहानी : फिल्म की कहानी बैंक की चोरी पर आधारित है , और इस चोरी के दौरान गौर करियेगा ” कॉमेडी , इमोशंस ” दिखाने की कोशिश की गई है। चम्पक ( रितेश देशमुख) जो की एक मिडिल क्लास फॅमिली से है , पैसो की जरुरत होने से बैंक चोरी करने अपने दोस्तों के साथ भेस बदल कर आता है ,और फिर कई सारे उतार चढ़ाव चोरी के दौरान होते है ,नाम से चम्पक अपने काम से भी चम्पक रहता है , और इसी वजह से गलतियों पर गलतिया करते जाता है। जब सी.बी.आई. ऑफिसर अमजद खान (विवेक ओबेरॉय ) को इसकी खबर होती है तो वो इस ऑपरेशन का मोर्चा सँभालते है, तो क्या अमजद खान को बैंक चोर धोखा देकर निकल जाते है या फिर कानून के हाथो चढ़ जाते है , यही सब फिल्म में दिखाया गया है।

माइनस पॉइंट : फिल्म का पहला भाग , जो की काफी पकाउ है , और सभी कलाकारों ने ओवर एक्टिंग की है ऐसा लगता है। स्क्रीनप्ले में जबरन सीन्स को ठूसा गया है , इस वजह से दर्शक थिएटर छोड़कर जाने में मजबूर हो जाते है।

प्लस पॉइंट : फिल्म का दूसरा भाग , जिसका स्क्रीनप्ले अच्छा है , लेकिन तब तक फिल्म हाथ से निकल गई होती है।

एक्टिंग : फिल्म में रितेश देशमुख ने इंटरवल के पहले बहुत बुरी एक्टिंग की है , उसी तरह विवेक ओबेरॉय ने भी खुश ख़ास नहीं किया है। लेकिन सेकंड हाफ में दोनों ने अच्छा काम किया है। साहिल वैद (बद्रीनाथ की दुलहनिया में वरुण के दोस्त की भूमिका में थे ) ने फिर से बढ़िया एक्टिंग की है।

म्यूजिक: फिल्म के गाने एवरेज है लेकिन पूरी फिल्म में एक भी गाना नहीं दिखाया गया है।

निर्देशन :बम्पी का निर्देशन ५०-५० है।

स्टार रेटिंग : २.५ /५

Copyright 2017 Hindi Film Review | Created by Rakesh Patil

Leave a Reply