Sunday, December 16, 2018
Home > Filmy News > Vijay Kumar’s Tamil Movie Mersal opposed by BJP

Vijay Kumar’s Tamil Movie Mersal opposed by BJP

mersal_vijay

Mersal Movie Opposed

तमिल सुपरस्टार विजय कुमार की फिल्म Mersal के रिलीज़ होते ही इसका विरोध तेज हो गया है।  फिल्म में नोटेबंदी, GST और डिजिटल इंडिया को लेकर नेगेटिव डायलॉग्स है जिसे बीजेपी ने सरकार की नीतियों के खिलाफ कहा है, और सेंसर बोर्ड से इसे तुरंत हटाने को कहा है। 18 अक्टूबर को रिलीज़ हुई इस फिल्म को तमिलनाडु ,मुंबई , अमेरिका , ऑस्ट्रेलिया , सिंगापुर व अन्य देशो में एक साथ प्रदर्शित किया गया और फिल्म को लोगो द्वारा बहुत सराहा जा रहा है, किन्तु राजनैतिक रंग लेते ही यह और भी चर्चा का विषय बन गई है।

प्रख्यात अभिनेता कमल हसन ने इस फिल्म की तारीफ़ करते हुए tweet किया “मेर्सल फिल्म को  सेंसर बोर्ड ने प्रमाणित किया था , अब फिर से इसे सेंसर न करें। तर्कपूर्ण जवाब से इसकी निंदा करें। आलोचक भी चुप न रहे। भारत बोलेगा तभी चमकेगा”। गौरतलब है कि कमल हसन को अपनी फिल्म विश्वरूपम के लिए भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था , और यहाँ तक की उन्होंने देश छोड़ने की धमकी भी दे डाली थी। 

Dialogues of Mersel

“तुम मुझे मत लूटो , नोटबंदी के कारण मेरे पास अब एक तिनका भी नहीं बचा”। 

“यहाँ 28% GST होने पर भी स्वास्थ सुविधा नहीं मिलती , सिंगापुर में  7% GST होने पर भी मुफ्त में स्वास्थ सुविधाये मिलती हैं”।

“यहाँ दवाइयों में 12% GST है , और दारु में कोई GST नहीं”। 

Mersel Official Teaser

 

बीजेपी नेता व केंद्रीय मंत्री पी. राधाकृष्णन ने इसे धार्मिक रूप देते हुए कहा ” क्रिस्चियन होने की वजह से विजय ने फिल्म के माध्यम से भाजपा का विरोध किया है”। एक और भाजपा नेता ने कहा “विजय, मोदी विरोधी है , इस फिल्म से स्पस्ट हो गया”राहुल गांधी ने कहा “Mr. Modi, Cinema is a deep expression of Tamil culture and language. Don’t try to demon-etise Tamil pride by interfering in Mersal” , वहीँ पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट किया ” फिल्म निर्माता कृपया ध्यान दे – नया क़ानून आ रहा है , आप केवल सरकारी नीतियों की तारीफ़ करने वाली डाक्यूमेंट्री बना सकते है”

वैसे हाल ही में प्रदर्शित फिल्म “Indu Sarkar”  का कांग्रेस ने भी जमकर विरोध किया था। मशहूर निर्देशक पी ए रणजीत ने इस फिल्म की तारीफ़ की है , वहीँ माकपा ने इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता  कहा है। 

To know more updates visit hindifilmreview regularly and also our facebook page.

Leave a Reply